Friday, July 19, 2024
Google search engine

Google search engine
Homeरायपुरबच्चों के नंबरों पर ज्यादा दबाव बनाने की तुलना में उन्हें अच्छा...

बच्चों के नंबरों पर ज्यादा दबाव बनाने की तुलना में उन्हें अच्छा इनसान बनाने पर विशेष ध्यान दें-डीजीपी अवस्थी

रायपुर। हमें जीवन में हर काम दिल लगाकर करना चाहिए और जो काम दिल से किया जाता है वह कभी असफल नहीं होता. परिजनों को चाहिए कि बच्चों के नंबरों पर ज्यादा दबाव बनाने की तुलना में उन्हें अच्छा इनसान बनाने पर विशेष ध्यान दें. यह बातें छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी (आईपीएस) ने मैट्स विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित ऑनलाइन इंटरएक्टिव सेशन में विद्यार्थियों एवं प्राध्यापकों से कहीं.

मैट्स विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ बिजनेस स्टडी के विभागाध्यक्ष डॉ. उमेश गुप्ता ने बताया कि विभाग द्वारा विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के लिए इंटरएक्टिव सेशन का आयोजन किया गया, जिसके मुख्य वक्ता पुलिस महानिदेशक, छत्तीसगढ़ शासन डी.एम. अवस्थी थे. अवस्थी ने विद्यार्थियों एवं प्राध्यापकों द्वारा पूछे गये प्रश्नों का जवाब देते हुए जीवन में सफलता के लिए कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया. उन्होंने कहा कि हर चीज को दिमाग से नहीं करना चाहिए बल्कि अपने जीवन में हर काम मन से कीजिये और दिल लगाकर किया गया काम असफल नहीं होता.

अवस्थी ने प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के लिए विद्यार्थियों को अनेक महत्वपूर्ण टिप्स दिये और कहा कि आज भाषा का माध्यम कोई भी हो, हिन्दी या अंग्रेजी, सभी के लिए समान अवसर है. हिन्दी के विद्यार्थी हिन्दी में और अंग्रेजी के विद्यार्थी अंग्रेजी में यूपीएससी की परीक्षा देते हैं. अनेक विद्यार्थी सफल होते हैं तो अनेक असफल भी लेकिन जो असफल होते हैं वे नाकाबिल होते हैं, ऐसा नहीं है, उनमें भी बहुत नॉलेज होता है. हमें अपने जीवन से कृतिमता या नकलीपन को हटा देना चाहिए और अच्छा इनसान बनना चाहिए. बच्चों में यह दबाव न बनाएँ कि वे सौ में से सौ नंबर प्राप्त करें, बल्कि उन्हें एक अच्छा इनसान बनाने के लिए प्रयास करें.

अवस्थी ने अपने जीवन के अनुभव भी साझा किये और कहा कि बच्चों के पहले रोल माडल माता-पिता होते हैं और माता-पिता जैसे होंगे बच्चे भी वैसे ही सीखेंगे. पुलिस महानिदेशक अवस्थी ने एक सवाल के जवाब में यह भी कहा कि आज तकनीकी का दौर है और तकनीकी की सफलता तभी है जब इसका सही उपयोग हो. उन्होंने यह भी कहा कि हर क्षेत्र में आज अवमूल्यन हो रहा है और हमें मूल्यों की रक्षा करने के प्रति सजग होना आवश्यक है.

अवस्थी ने विद्यार्थियों द्वारा कैरियर की संभावनाओं को लेकर पूछे गए प्रश्नों का उत्साह के साथ जवाब दिया गया. इस अवसर पर एआईजी राजेश अग्रवाल (पीएचक्यू) भी प्रमुख रूप से उपस्थित थे. इंटरएक्टिव सेशन में कुलाधिपति गजराज पगारिया, महानिदेशक प्रियेश पगारिया, उपकुलपति डॉ. दीपिका ढांढ, कुलसचिव गोकुलानंदा पंडा ने पुलिस महानिदेशक  डी.एम. अवस्थी द्वारा विद्यार्थियों को दिये गये मार्गदर्शन एवं प्रोत्साहन के प्रति आभार व्यक्त किया एवं वर्तमान समय में इसे विद्यार्थियों में सकारात्मक ऊर्जा के संचार के लिये महत्वपूर्ण बताया. इस सेशन में विश्वविद्यालय के सभी विभागों के विभागाध्यक्ष एवं विभिन्न संकायों के विद्यार्थी ऑनलाइन उपस्थित थे.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments