Saturday, July 13, 2024
Google search engine
Homeदन्तेवाड़ाबंदूक को जवाब शिक्षा से / फिर सुनाई देगी वहां ककहरा और...

बंदूक को जवाब शिक्षा से / फिर सुनाई देगी वहां ककहरा और घंटी की आवाज ….

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा का भांसी गांव। यहां का नक्सलगढ़ कहे जाने वाले मासापारा स्कूल में एक बार फिर से ककहरा और घंटी की आवाजों के बीच बच्चों का शोर सुनाई देगा। यहां स्थित जिस स्कूल को नक्सलियों ने 6 साल पहले तोड़ दिया था, उसका निर्माण कार्य फिर शुरू कर दिया गया है

दंतेवाड़ा. 

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा का भांसी गांव। अगर सबकुछ ठीक रहा तो  यहां का नक्सलगढ़ कहे जाने वाले मासापारा स्कूल में एक बार फिर से ककहरा और घंटी की आवाजों के बीच बच्चों का शोर सुनाई देगा। यहां स्थित जिस स्कूल को नक्सलियों ने 6 साल पहले तोड़ दिया था, उसका निर्माण कार्य फिर शुरू कर दिया गया है। खास बात यह है कि इस स्कूल को तोड़ने वाले नक्सली ही सरेंडर के बाद इसे बना भी रहे हैं।

सरेंडर करने वाले नक्सलियों ने ही कहा- फिर से बने स्कूल
प्रशासन का दावा है इस साल से स्कूल को शिफ्ट कर दिया जाएगा। दंतेवाड़ा में पहली बार है जब नक्सलियों के गढ़ में ही उनकी तोड़ी स्कूल को बनाने का काम दोबारा शुरू किया गया है। यह सबकुछ सरेंडर करने वाले नक्सलियों की कोशिशों से ही हो रहा है। दरअसल, पुलिस के लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर हाल ही में इस इलाके के नक्सलियों ने सरेंडर किया है। सरेंडर के बाद नक्सलियों ने ही मांग की थी कि इसे दोबारा बनाया जाए। 

अब जिन्होंने इसे तोड़ा, वही इसे बनाने में भी जुटे
सरेंडर नक्सलियों की मांग पर कलेक्टर दीपक सोनी ने वादा किया था कि आप समर्थन दें, हम स्वीकृति देंगे। इसके बाद भांसी से दंतेवाड़ा लौटते ही 24 घंटे के अंदर कलेक्टर ने स्कूल भवन निर्माण की स्वीकृति दे दी। बाकायदा काम की भी शुरुआत करा दी। इधर कलेक्टर की इस त्वरित कार्यवाही से ग्रामीण बेहद खुश हैं। एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने नक्सलियों के सरेंडर व विकास की मांग को लोन वर्राटू अभियान की जीत बताया है।

यह पहला स्कूल होगा, जो उसी जगह पर शुरू होगा
नक्सलियों की तोड़ी जिले की 11 स्कूलों का दूसरी जगह संचालन हो रहा है। बीते साल प्रशासन ने उन्हीं गांवों में स्कूल खोलने की योजना बनाई थी। सालभर बीत जाने के बाद भी दंतेवाड़ा में यह नहीं हो सका। यदि मासापारा स्कूल को दोबारा बनाकर शिफ्ट कराया जाता है, तो नक्सलियों की तोड़ी स्कूल में दोबारा उसी जगह संचालित होने वाली पहली स्कूल होगी।

स्कूल के लिए स्वीकृति देकर काम शुरू करा दिया गया है। अभी बारिश का मौसम है, इसलिए रफ्तार थोड़ी धीमी रहेगी। जल्द ही निर्माण पूरा कराया जाएगा। इसी साल स्कूल भी शिफ्ट कर देंगे।
– दीपक सोनी, कलेक्टर, दंतेवाड़ा छत्तीसगढ़

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments