Friday, July 19, 2024
Google search engine

Google search engine
Homeछत्तीसगढ़क्या जादू की छड़ी से कांग्रेस के बेलतरा प्रत्याशी के नाम दर्ज...

क्या जादू की छड़ी से कांग्रेस के बेलतरा प्रत्याशी के नाम दर्ज हो गई..ग्राम कछार स्थित करोड़ों की 8 एकड़ 44 डिसमिल…शासकीय जमीन..?

0 कांग्रेस नेता के नाम 8 एकड़ 44 डिसमिल शासकीय जमीन के आवंटन की पुष्टि करता भुइयां दस्तावेज
0 ग्राम कछार के नक्शे में नीले रंग में बताई जा रही जमीन वहीं 8 एकड़ 44 डिसमिल शासकीय जमीन है, जिसे ऑनलाइन रिकॉर्ड में कांग्रेस नेता राजेंद्र उर्फ डब्बू साहू के नाम बताया जा रहा है आवंटित


बिलासपुर। बिलासपुर से कुछ ही दूर रतनपुर मार्ग पर सेंदरी के पास स्थित कछार गांव में बीते एक सप्ताह से जबरदस्त बवंडर उठा हुआ है। विरोध का यह बवंडर तब शुरू हुआ जब कछार गांव के लोगों को यह पता लगा कि उनके गांव की तालाब व सड़क से लगी करोड़ों रुपयों की 8 एकड़ 44 डिसमिल मलाईदार जमीन सेंदरी गांव के पूर्व सरपंच तथा कांग्रेस के बेलतरा से प्रत्याशी रहे, राजेंद्र उर्फ डब्बू साहू के नाम से शासकीय ऑनलाइन रिकॉर्ड में चढ़ा दी गई है। जानकार लोग इसे बिलासपुर जिले का,सबसे बड़ा ऑनलाइन जमीन गड़बड़झाला बता रहे हैं।


इस बाबत जब श्री राजेंद्र साहू से चर्चा की तो उनका कहना था… इसे लेकर मैं खुद हैरत में हूं कि ऐसा कैसे हो गया..? श्री साहू का कहना है कि उन्होंने इस जमीन को अपने नाम आवंटित करने के लिए कभी भी कोई आवेदन अथवा प्रस्ताव तहसीलदार समेत कहीं भी नहीं दिया है। तब फिर यह 8 एकड़ 44 डिसमिल जमीन ऑनलाइन रिकॉर्ड में उनके नाम से कैसे बताई जा रही है..?। श्री साहू ने इसे उनकी राजनीतिक तथा सामाजिक छवि एवं सम्मान के खिलाफ साजिश निरूपित करते हुए कहा कि जब मैंने कोई आवेदन या प्रस्ताव ही नहीं दिया.. तब कोई शासकीय जमीन…वह भी 8 एकड़ 44 डिसमिल…मेरे नाम से ऑनलाइन रिकॉर्ड में कैसे दर्ज हो सकती है। श्री साहू ने बताया कि जैसे ही उन्हें इस बात की जानकारी मिली तो उन्होंने, इसे लेकर एसडीएम बिलासपुर को ताबड़तोड़ एक आवेदन देकर इस संदिग्ध आवंटन की सच्चाई और उसके पीछे की साजिश की जांच कर..दूध का दूध और पानी का पानी करने के लिए निवेदन किया है।


वहीं ग्राम कछार की पटवारी से मोबाइल पर हुई बातचीत में उन्होंने भी कछार गांव की 8 एकड़ 44 डिसमिल शासकीय जमीन ऑनलाइन रिकॉर्ड में श्री राजेंद्र साहू पिता सुंदर लाल साहू के नाम पर बताए जाने पर आश्चर्य जाहिर किया और बताया कि श्री साहू के आवेदन पर एसडीएम बिलासपुर द्वारा इस मामले में रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं। पटवारी का कहना था कि मैनुअल रिकॉर्ड में इस आवंटन की बात कहीं भी नहीं दिख रही है..!
अब यह सवाल उठना लाजमी है कि, ग्राम कछार कि उक्त शासकीय भूमि बेलतरा से कांग्रेस प्रत्याशी रहे श्री राजेंद्र उर्फ डब्बू साहू पिता सुंदर लाल साहू के नाम से कैसे चढ़ी..?
कछार गांव की जनता और तमाम लोग यह जानना चाहते हैं कि..किस जादुई छड़ी से दस करोड़ों रुपए से अधिक कीमत की 8 एकड़ 44 डिसमिल शासकीय जमीन राजस्व के कौन से तिलस्मी जादूगर ने श्री साहू के नाम से चढ़ावा दी..?

बहरहाल, जानकारी मिली है कि एसडीएम बिलासपुर इस मामले में ग्राम कछार के राजस्व रिकार्ड को खंगाल रहे हैं और उम्मीद है कि बहुत जल्दी वे किसी नतीजे पर पहुंच जाएंगे..! जाहिर है कि जब तक ऐसा नहीं होता तब तक ग्राम कछार में विरोध का बवंडर दिनों दिन और विस्फोटक होता जाएगा…

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments